Monday, June 29, 2009

पाकिस्तान की उखड़ती साँसों को खासुलखास अल्लाह की इनायत ही थामे रख सकती है या फ़िर ......


दोस्तों,

गत कुछ माह पहले ०६-०४-२००९ को मैंने कुछ सामूहिक तौर पर भविष्य वाणीयां की थी जिसके तहत पाकिस्तान के बाबत भी गंभीर शब्दों में भविष्य की दुश्वारियों पर अपने विचार रखे थे की यह वर्ष पाकिस्तान की आवाम के लिए बेचैनी भरा है और तालिबान द्वारा प्रस्तुत चुनौती को पाक शासन भली प्रकार उत्तर दे नही पाए गा तथा अमेरिकी दवाब में आकर तालिबान के ख़िलाफ़ सर्जिकल आपरेशन आहूत करना पड़ सकता है यह मैंने भविष्य वाणी की थी वोभी इसी ब्लॉग में और आतंक का नंगा नाच होगा वोभी सच्च हुआ ये कोई छुपी बात नही है साथ ही मैंने वहा की निर्वाचित सरकार के चुयुत होने का भी खतरा बताया था जो अभी आगे सच्च साबित होना बांकी है /
इस वर्ष का लग्न प्रवेश तुला लगन राहू नक्षत्र मंगल के भाग और शनि के उपभाग में हुआ है जो पाक के असुरक्षित भविष्य को दर्शाता है / चतुर्थ भावः की विकट ग्रह स्थिति पाक जनता को भागम-भाग के लिए ना केवल वीवश ही नही करे गी बल्कि तालिबान के साथ हुक्कमरानो की बेमुर्वत ताशिर से भी घुट घुट जायेगी /बांकी जो बचेगा वो प्राकृतिक प्रकोप के भाजक बन जाए गे /प्राकृतिक आपदा के कोप के योग भी पुरे शबाब से बन रहे है /
तालिबान पर हुकूमत को मजबूरी यां दानिशमंदी के तहत यां अमेरिकी हूँ-कार के तहत जोरशोर से सर्जिकल आपरेशन कराने पड़े गे जो किसी भी कोण से पाक के सुख चैन को खत्म कर देगा /
जाहिर है पाकिस्तान की उखडती साँसों को अब तो केवल अल्लाह ही थामे रख सकता है /

No comments: