Friday, July 17, 2009

हिलरी क्लिंटन का दोस्ती भरा पैगाम भारत के नाम !

अमेरिका की विदेश मंत्री श्रीमती हिलरी क्लिंटन का आगमन हिंदुस्तान में हो चुका है यह उनकी पहली राजकीय यात्रा है इससे पहले
इनके पति बिल क्लिंटन आए थे तो वो साथ नही थी परन्तु २६-१०-१९४७ को २०-०० बजे मिथुन लग्न में तथा मीन राशिः में पैदा होने वाली श्री मति हिलरी अत्यन्त बहादुर और पराक्रमी महिला है /जब सूर्य महादशा में गुरु का अन्तर चल रहा था तो गुरु के दिए ज्ञान से इन्होने बड़ी सूझबूझ दिखाते हुए राष्ट्रपति चुने जाने को दूर की कोडी जानकर मध्य मार्ग चुना और बिदेश मंत्री का पद प्राप्त किया जो इनकी दोहरी निति का शुभ फल है -ये मिथुन और मीन राशिः के लोग द्वि स्वभाव के होते है फलतः भारत को सचेत रह कर यत्न पुर्बक व्यवहार रखना चाहिए /
श्रीमती हिलरी को अभी शनि की अन्तर दशा चल रही है जो अगले वर्ष अंत तक चलेगी लिहाजा ये फ़िर एक वर्ष के अन्दर वापिस भारत आयेंगी यह साफ प्रतीत होता है / साथ ही चुकी इनका शनि व्यय भावः से ताल्लुक रखता है लिहाजा ये आगामी एक वर्ष तक अत्यंत भ्रमण कारी बनी रहेंगी /इसी एक वर्ष में इनके साथ किसी प्रकार का अनचाहा बखेडा पैदा हो सकता है अतः जागरूक रहना चाहिए /
भारत यात्रा इनकी फायदेमंद रहे गी दोनों देश गुप्त समझौते करेगे और पाकिस्तान पर नाना प्रकार से दवाब की रणनीति बना सकते है / आर्थिक और तकनिकी मामलों में विशिष्ट समझोते होंगे /
श्रीमती हिलरी का राजनितिक भविष्य उज्जवल है २०११ का वर्ष विशेष लाभ दायक रहेगा जिस में इनकी जयजय कर होगी /थैंक्स/

Monday, July 13, 2009

मुंबई पर मंडराता खतरा - संभल जाए सरकार !


दोस्तों,
मुंबई पर जोरदार खतरा मंडरा रहा है -जब की सरकार या स्थानीय प्रशासन कुम्भकरण की नींद सो रही है / लाखो करोडो मुंबई वासियों की जान सांसत में फासी है परन्तु देखने सूनने वाला कोई नही /
गत २८-०६-२००९ को मैंने अपने ब्लॉग ''http://shashibhushantamare-kpsystem.blogspot.com/ पर स्पस्ट शब्दों में बताया था की तारीख २९-०६-२००९ के बाद मुंबई और उसके आसपास के इलाकों में भारी बरसा होगी अतः मुंबई वासी सचेत रहे क्योकि उन्हें भारी कष्टों का सामना करना पड़ेगा परन्तु हाय रे दुर्भाग्य लोगो ने इसे किसी बेवकूफ आम सामान्य ज्योतिषी का विधवा विलाप समझा और जब भविष्यवाणी खरी उतरती दिख रही है तो सैकडो लोगो के ई-मेल आते देख मैंने यह जरूरी समझा की मै स्थानीय प्रशासन को सचेत कर दू की अभी ग्रह स्थिति टली नही है लिहाजा सरकार समय रहते युद्ध स्तर के उपाय करे अन्यथा दुर्भाग्य सामने खड़ा है तैयार रहे /थैंक्स/

Sunday, July 5, 2009

आसमानी कौतुक मगर धरतीवालो का जान का जंजाल ही तो होगा बाईस जुलाई दो हजार नौ को ! ! !


दोस्तों ,

२२ जुलाई बुद्धवार सन २००९ को खग्रास सूर्य ग्रहण होने जारहा है /यह अत्यंत महत्वपूर्ण खगोलीय घटना है इसका प्रभाव बड़ा ही दूरगामी होता है / यह ग्रहण करक राशिः में घटित होगा /खगोलीय वैज्ञानिको के लिए यह खोज से अधिक महत्वपूर्ण विषय नही है परन्तु ज्योतिष की दृष्टि से ग्रहण दोनो में से कोईसा भी हो लाभदायक कम नुकसानदायक ज्यादा अनुभव किया गया है और फ़िर ये तो कंकन नही खग्रास सूर्य ग्रहण है लिहाजा विचार जरूर करे /दिल्ली में यह ग्रहण ०५-३२-०८ बजे सुबह से ०७-२४-५७ बजे तक मोक्ष होगा /किसी भी ग्रहण के नौ घंटे पहले से सूतक प्रारम्भ माना जाता है /
ग्रहण लगा सूर्य एक विशिष्ट कोण से कुछ नगरो के ऊपर से गुजरे गा / ये नगर क्रमशः इस प्रकार से नाम अनुसार है - भावनगर , सूरत, वडोदरा, इन्दौर , उज्जैन , भोपाल , सागर, जबलपुर, इलाहाबाद , वाराणसी , गया और पटना / ये सभी नगर सूर्य ग्रहण की पुरी जद्द में होंगे /
कृष्ण मूर्ति पद्धति ज्योतिष की अनुपम और वैज्ञानिक अनुभाग है उसके अनुसार ग्रहण का विशेष प्रभाव ग्रहण पथ की जद्द में पड़ने वाले नगरो पर विशेष रूप से होता है लिहाजा उपरोक्त नगरो पर आगामी एक वर्ष अत्यन्त विशेष होगा /यधपि मेरा आशय यह बिल्कुल नही की सभी नगर ग्रहों की कड़ी नजरो में होगे बल्कि कथन यह है की आगामी एक वर्ष इन नगरो में से किसी के लिए कष्ट प्रद वर्ष हो सकता है लिहाजा सावधानी जरूरी है /बांकी प्रभु इक्छा बलवान है / एक वर्ष की अवधी २२ जुलाई २००९ से २२ जुलाई २०१० तक मान्य होगी /थैंक्स/