Wednesday, December 30, 2009

प्रथम ग्रासे मक्षिका पातंम यानी श्री गुरूजी की अतृप्त अभिलाषा !



www.blogvani.comदोस्तों,
आज दिनाक 30-12-2009 को सुबह 10 बजकर 30 मिनट पर झारखंड की राजधानी रांची में श्री शिबू शोरेन ने मुख्य मंत्री पद की शपथ तब ली है जब एक स्थिर लग्न कुम्भ राशि उदित थी / ज्योतिषियों ने शिबू शोरेन के दुर्भाग्य को स्थिरता प्रदान करने की बड़ी खूबसूरत चाल चली है या यूं कहे पूरा जोर लगा दिया है परन्तु मै पहले से कहता आ रहा हूँ की पाराशर पद्धति के चंचल सिद्धांत जब खुद स्थिर नहीं तो दूसरो को क्या स्थिरता देंगे / रोहिणी नक्षत्र में जब सूर्य का अंतरा और पुनः चन्द्रमा का प्रत्यंतर चल रहा था तब शपथ ग्रहण हुआ जो ज्योतिषियों की दूसरी सशक्त चाल थी शिबू शोरेन के भाग्य को सौभाग्य में बदलने की/ परन्तु हाय रे शिबू शोरेन का दुर्भाग्य !
जो सन 1999 के बाद से जो रूठा कब मानने वाला था /
कुम्भ लग्न की इस शपथ ग्रहण कुंडली को राहू की कुदृष्टि लगी पड़ी है जो शिबू शोरेन के अंतिम अभिलाषा को मालूम होता है निगलने को तैयार बैठा है /  श्री शिबू शोरेन उर्फ़ गुरूजी अत्यंत अल्प समय के लिए ही अभी तीसरी बार भी मुख्य मंत्री रह पायेंगे / अपने जन्म से ही यह सरकार अल्प जीवी है ज्यादा समय नहीं लगेगा कोई विपदा आने में जो शिबू शोरेन की अभिलाषा पर तुषारापात करे गी और मरती हुयी भाजपा को भी ले मारे गी / दोनों के दुर्भाग्य और कांग्रेस के सौभाग्य ने ये गठजोड़ तैयार किया है / एक वर्ष और चार महीने से ज्यादा इस सरकार की आयु नहीं है /
श्री शिबू शोरेन के प्रथम ग्रास में मक्षिका पात हुआ हुआ ही जाने !
थैंक्स/                      

Friday, December 25, 2009

शुक्र है खुदा का की इन गोरी चमड़ी वालो को इतनी तो अक्ल आई !


www.blogvani.comदोस्तों ,
नेचर जर्नल नामक पत्रिका, जो अमेरिका में प्रकाशित होती है,ने अपनी रिपोर्ट में कबूल किया है की हमारी पृथ्वी बहूत अंदर तक,तक़रीबन 15 मिल अंदर तक, सूर्य और चन्द्रमा के गुरूत्वाकर्षण से प्रभावित होती है यानि इसी के प्रभाव वश भूकंपीय झटके आते है / हुआ दरअसल यह की अमेरिका के बर्कले स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिफोर्निया के अर्थ एंड प्लानेट्री साईंस ने गहन अध्यन के बाद निष्कर्ष बताया की पिछले वर्ष सुमात्रा में आये  भूकंप के बाद जो  वाशिंगटन स्टेट के तटीय इलाको में भी जो झटके महसूस किये गए वो दूसरे ग्रहों से निकली तरंगो की वजह से थे /
अमेरिकी भूकंपीय विशेषज्ञों का कहना है की ग्रहों के गुरूत्वाकर्षण के फलस्वरूप पृथ्वी मिलो अंदर तक प्रभावित होती है यानी पृथ्वी के अंदर पिघलते मैग्मा पर प्रभाव पड़ता है और एक प्रतिक्रिया का क्रमवार सिलसिला चल पड़ता है जो भारी तबाही का सबब बनता है / इसका विस्तृत अध्ययन लॉस ईन्जिलास के पश्चिमोत्तर क्षेत्र के 170 मिल के इलाके में पिछले आठ सालो में आये करीब 2000  झटको के साथ जोड़ कर किया गया /
अन्य संदर्भ में एक अन्य सत्य जो अभी कुछ दिनों पहले उजागर हुआ और वो भी भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा की चन्द्रमा पर जल का अस्तित्व है जिसे अमेरिका स्थित ''नासा'' ने भी कबूल लिया / उक्त खबर को टीवी चैनलों ने खासम-ख़ास तवज्जो दी थी / भारत अपनी खोज की पुष्टि नासा द्वारा किये जाने पर फूला नहीं समाया था और वास्तव में है भी यह गौरब की बात, परन्तु मै आज तक न्याय नहीं दे पाया  इस खोज को क्यों की भारतीय ज्योतिष अपने प्रारम्भ से ही कहता आ रहा है की चन्द्रमा एक जलतत्व प्रधान ग्रह है परन्तु अब जब गोरी चमड़ी ने कबूल लिया तो हम फूले नहीं समा रहे /
ज्योतिष ने बहूत पहले कहा की ग्रहों की गुरूत्वाकर्षण शक्ति पृथ्वी में भूकंपन पैदा करती और यही वजह है की जब सूर्य या चन्द्र ग्रहण होता है उसके बाद दो या तिन महीनो में भूकंप जरूर आता है आप चाहे जैसे मर्जी हो इस तथ्य को जांच ले यह सत्य साबित होगा /
शुक्र है खुदा का की इन गोरी चमड़ी वालो को  इतनी तो अक्ल आई की कम से कम उन्हों ने भारतीय लोगो को खुद के घर में रखी मुर्गी को दाल बराबर नहीं समझने पर विवस कर दिया है / थैंक्स/    

Sunday, December 20, 2009

आज वो समय है जब मै चुप क्यों बैठू !

www.blogvani.comदोस्तों ,
और अंत पन्त  लाल कृष्ण आडवाणी को विपक्ष के नेता पद से टाटा-बाय बाय कहना पड़ ही गया और इस प्रकार अटल- आडवाणी युग का समापन हो गया , निश्चय ही यह खबर दो दिन पुरानी है परन्तु जो एक नयी बात है वो यह की आज से कोई चार महीने पूर्व मैंने अपने इसी ब्लॉग में 28 अगस्त शुक्रवार 2009 को ''लाल कृष्ण आडवाणी ने दिलाई ज्योतिष को जित ''  नामक शीर्षक से एक लेख पोस्ट किया था की श्री आडवाणी को इस्तीफा देना पडेगा और पार्टी में उन्हें परामर्शदाता पद दिया जाए गा / मेरी उक्त भविष्य वाणी बिलकुल ठीक निकली / वास्तव में यह भविष्य वाणी तो मैंने अगस्त से भी पहले की थी जब लोक सभा के चुनाव होने वाले थे/ 14 जून 2009 को ''muddle over the future of B J P ''  नामक शीर्षक से पोस्ट किया था इसी ब्लॉग में , जिसमे विस्तृत तौर पर बी जे पि की कुंडली पर विचार लिखे थे और स्पस्ट शब्दों में बताया था की सन 2009 के लोकसभा चुनाव में हार के बाद पार्टी में घमासान मच जाए गा और श्री लाल कृष्ण आडवाणी को बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा /
दूसरा पूरक लेख मैंने 28 अगस्त 2009 को पोस्ट किया जिसमे लाल कृष्णा आडवाणी की कुंडली का विश्लेषण प्रस्तुत किया था की उन्हें शनि की महा दशा लग चुकी है और लग्न भाव में बैठा शनि'' मारक'' है लिहाजा वो अब लम्बे समय तक महत्त्व के पद पर नहीं बने रह सकते साथ ही उनके स्वास्थ की भी चिंता जताई थी जो की आईंदा देश के लिए चिंता का वायस बने गा /
दोस्तों , यह लेख लिखने का मेरा मकसद यह है की आज के समय में जब जंहा हर दूसरा व्यक्ति ज्योतिष की और संदेह क्या माखौल भरी अंगुली उठाता है और हिकारत भरी नजर से देखता है तो आज वो समय है जब मै चुप क्यों बैठू / यह मै स्पस्ट करना चाहूंगा की मुझे ना धन की और ना ही यश की चाहत है बल्कि ज्योतिष पर सवाल उठाने वालो से यह पूछू की अब वो क्या कहते है /
मै अपने दोस्तों से सरल और विनम्र शब्दों में कहना चाहूंगा की मेरे किसी भी प्रयास को वो दंभ की अतिशयोक्ति ना समझ कर एक ईमानदार कोशिश माने जो सचमुच ज्योतिष को प्रतिष्ठा दिलाना चाहता है / थैंक्स/



Friday, December 11, 2009

टाईगर वुड ; समस्याए अभी और भी है !


दोस्तों, 
आज से कोई दो दिन पूर्व विश्व के मशहूर गोल्फ खिलाड़ी टाईगर वुड के बाबत मैंने अपने अंग्रेजी भाषा के ब्लॉग www.shashibhushantamare-kpsystem.blogspot.com पर एक विस्तृत लेख लिखा था जिसमे उनके भविष्य के बाबत ज्योतिषीय विचार लिखे थे और इसी संदर्भ में टाईगर वुड के दाम्पत्य जीवन में अलगाव की भविष्य वाणी भी की थी, इसी बिच आज दिनांक 12 -12 -2009  को यह खबर आगई है की टाईगर वुड की पत्नी इलिन नोरदेगरेन ने टाईगर वुड को स्पष्ट शब्दों में कहा है की या तो गोल्फ या परिवार दोनों में से किसी एक को चुन लो, जवाब में टाईगर ने अनिश्चित काल के लिए गोल्फ से किनारा कर लिया है जब की मैंने अपने ब्लॉग [अंग्रेजी] में स्पष्ट शब्दों में लिखा है की दोनों के बिच तलाक होना निश्चित है जो आगामी एक वर्ष में हो जाये गा /
पुनश्च, आगे मै वो तमाम बांते हिंदी में लिख रहा हूँ जो पीछे मैंने अंगेजी में तो पोस्ट करदी थी परन्तु व्यस्तता के कारण हिंदी में पोस्ट नहीं कर पाया था /
पीछे एक कॉकटेल वेट्रेस रिचेल उचिटेल ने टाईगर वुड पर यह आरोप लगाया की उससे उसके जिस्मानी ताल्लुकात पिछले 31 महीनो से चल रहे थे और उन दोनों ने आस्ट्रेलिया में जाकर जसन मचाया था, वेट्रेस उचिटेल के अलावे अब तक दसयो लड़कियां मीडिया के सामने जिस्मानी ताल्लुकात की बात कबूल चुकी है /
विश्व का यह अमेरिकन अरबपति गोल्फर गोल्फ के खेल में जादुई महारथ रखता है / टाईगर वुड अनेक बार विश्व विजेता भी रह चुका है / सिंगल और टीम फोर्मेट में भी अद्वितीय सफलताए प्राप्त कर चुके है टाईगर वुड / विश्व के 61 वर्ष के इतिहास में टाईगर वुड की सफलताए सर्वोच्च है , उनके जितना सफल गोल्फ खिलाड़ी आईंदा भविष्य में होता नहीं दिखता, यदि व्योरा लिखा जाये तो पूरी किताब तैयार हो जाये गी / परन्तु पिछले कुछ महीनो से वुड के साथ कुछ भी अच्छा नहीं हो रहा / आईये इसकी ज्योतिषीय जांच करे /
अमेरिका के लॉन्गबिच नामक स्थान पर 30 दिसंबर 1975 को कर्क लग्न में टाईगर वुड का जन्म हुआ / वर्त्तमान में सूर्य की महा दशा चल रही है जो सन 2012 तक चले गी / कृष्ण मूर्ति पद्धति अनुसार सूर्य शुक्र और बुद्ध का प्रतिनिधि है जो भाव पांच और सात के स्वामी है / शुक्र स्त्री और सेक्स का सिम्बल है जबकि बुद्ध बहुतायत का और तीनो का गठजोड़ मंगल से होजाने से विकृति प्रकट हुयी / ग्राहांतर भी अगले वर्ष तक ठीक  नहीं / लिहाजा सन 2010 टाईगर के लिए भारी मुसीबतों भरा है / उनके दाम्पत्य जीवन में अलगाव सुनिश्चित है / भारी आर्थिक हानि उठानी पड़े गी / छवि धूमिल होगी सो अलग / शारीरिक पीड़ा के योग भी बनते है लिहाजा टाईगर को सयंम और धैर्य का आसरा लेना ठीक रहे गा / थैंक्स/
    www.blogvani.com

Tuesday, December 8, 2009

www.blogvani.comदोस्तों,



सोनिया गाँधी ! तुम जियो हजारो साल , साल के दिन हो हजारो साल !आज कांग्रेस अध्यक्षा श्रीमति सोनिया गाँधी का 64 वां जन्म दिन है /
मै ईश्वर से उनकी लम्बी उम्र और उत्तम स्वास्थय की कामना करता हूँ , यह वीरांगना हम भारतीयों के लिए सर्वोच्च सम्मान की अधिकारी है / एक ऐसे देश में पैदा हो कर भी जंहा भारतीय संस्कृति को पहचानने वाला कोई ना हो उस जगह से आकर एक भारतीय परम्परागत बहू के उदाहरण के रूप में स्थापित हो जाना कतई सुगम कार्य नहीं है / श्रीमती सोनिया गाँधी ने गाँधी परिवार की ख्याति को नित नए सोपान दिए और बिलाशक आगे भी देती रहेंगी / एक माँ , एक बहू , एक कुशल संगठन संयोजिता,और ना जाने क्या क्या सोनिया गाँधी हर दृष्टि से सम्मान दिए जाने योग्य है / अनेक अग्नि परीक्षाओ को सहज ही पार कर जाने वाली यह सबला नारी सत्ता को जिस सहज भाव से ठोकर मार चुकी है वो पुरूषों के लिए भी सहज नहीं /
अत्यंत धीर गंभीर और मितभाषी सोनिया गाँधी का जन्म कन्या लग्न में ०9 दिसंबर 1946
को लुसियाना इटली में हुआ है / वर्तमान में केतु महा दशा में चन्द्रमा का अन्तर चल रहा है / यह महा दशा 2015 तक चले गी / तीसरे घर का केतु बुद्ध के नक्षत्र में होकर राजयोग भंग कारी है / यानि वो आजीवन प्रधान मंत्री नहीं बन सकती / केतु का सम्बन्ध मंगल से है लिहाजा वे प्रधान मंत्री की पत्नी या माँ तो हो गी परन्तु स्वयं प्रधान मंत्री नहीं होंगी /
ज्योतिषीय गणना अनुसार वर्ष 2010 श्रीमती सोनिया गाँधी के लिए उत्तम नहीं है / इस वर्ष उनका शत्रु पक्ष प्रबल रहे गा / उनके प्रबंधन क्षमता की अग्नि परीक्षा होगी जिसमे वो अधिक कार्यकुशल साबित नहीं होंगी क्यों की ग्रह संयोग उनके खिलाफ है लिहाजा उनकी लोकप्रियता में कमी दर्ज की जाएगी / सोनिया गाँधी को चाहिए वे यत्न पूर्वक समय की गति पहचाने और निर्णय ले / बिना शक यह वर्ष उनकी आलोचनाओ का वर्ष साबित होगा / ग्रह शान्ति अपेक्षित है / थैंक्स/

Tuesday, December 1, 2009

हाय शादी का संग करू !


दोस्तों!
हम जिस किसी भी समाज में हो उसकी बदलती तासीर हमारे जीवन पर बे-हिसाब असर डालती है / हम लाख कोशिशो की बावजूद उस के असर से अलहद नहीं रह सकते / आज हमारे आपके घरो में एसे शादी लायक लड़के / लडकियों की काफी अच्छी तादाद मिलजाए गी जो रिश्तो के लिए भटक रहे है मगर रिश्ते दरवाजे तक नहीं आते/ वजह चाहे जो हो रिश्ते नहीं होने की/ पर हर समाज में कुंवारो की भारी फौज जमा हो रखी है , वो मारवाड़ी, पंजाबी, मराठी या जिस किसी समाज की बात हो हर जगह ये ही हाल है / मै ज्योतिषी हूँ और दिल्ली जैसे शहर में हूँ जंहा सभी समुदाय के लोगबाग है, मिलते है तो जो कॉमन मसला है वो कुंवारे बच्चो का है जो शादी की उम्र ना जाने कब पार कर चुके है / यह एक गंभीर मसला है जो दिनानुदिन भयावह शक्ल अख्तियार कर रहा है /  मै वजहों की चर्चा नहीं करना चाहता क्यों की उन्हें सुधारना मेरी उरमा या कूबत से बाहर है परन्तु इतना तो जरूर कहूंगा की इसकी मुख्य बाजूहात वो कुरीतियाँ  और लालसा है जो समाज के तानेबाने को तहसनहस कर रही है /
खैर, एक सरल और सहज समझा जा सकने वाला उद्धरण राहुल गांधी का लेले जो हर नजरिये से सुयोग्य वर कहे जायेंगे, मै समझता हूँ वो जिस किसी परिवार में विवाह की इक्छा जतावें तो निश्चय ही वधु पक्ष सहर्ष स्वीकार लेगा, मगर हाय रे विधाता उस लाखो के प्यारे कुंवारे की घुड चढ़ी नहीं हो पा रही/ इसके पीछे क्या वजूहात है और उस जैसा वर क्यों कर कुंवारा डोल रहा है /

मसला वो नहीं जो दिखता है / मै ज्योतिषी हूँ लिहाजा मै ज्योतिष की बात करूंगा / मै नौ ग्रहों की बात करूंगा / कृष्ण मूर्ति पद्धति मांगलिक दोष ; पाप ग्रह की सप्तम पर दृष्टि , या अन्य दूसरे पाराशर पद्धति द्वारा बखान किये सैकड़ों योगो को पुरजोर खारिज करती है / केपी पराशर के चंचल सिद्धांतो को ''गए थे हरी भजन को ओटन लगे कपास'' से अधिक कुछ नहीं मानता/ शेष फिर , थैंक्स /                                                                                                                       www.blogvani.com