Sunday, August 9, 2009

स्वाईन फ्लू के आतंक तले भारतीय स्वतंत्रता की 63 वी वर्ष गांठ !!



स्वतंत्रता दिवस की ६३ वी वर्ष गांठ पर मेरे प्यारे देश वासियों को हार्दिक बधाई !
निश्चय ही यह हमारे देश का सबसे बड़ा त्यौहार है परन्तु इस दफा माहौल कुछ और है एक तरफ़ अपर्याप्त बरसात की वजह से सारे देश में गर्मी बढ़ी और अनाज का भारी नुक्सान हुआ और ऊपर से विदेश से चल कर आई बिमारी स्वाईन फ्लू कहर बनकर टूटने को तैयार खड़ी है /इस दो तरफा मार के बिच हमारा स्वतंत्रता दिवस भी आ पहुँचा है / हम भारत वासी देश पर जब जब संकट आया बड़े साहस के साथ लड़ने के लिए जाने जाते है आज निश्चय ही वैसा ही कुछ समय है और हम दुनिया को दिखला देंगे की जैसे हमारे पुरखो ने विदेशीयो को भगाया था वैसे ही इस नामुराद विदेशी बिमारी को और सूखे की ना चाही मार को इसके आखरी परिणाम तक छोड़ आए गे /
आगे बात ज्योतिष की करते है /मैंने अपने इसी ब्लॉग में अप्रेल महीने में भविष्य वाणी लिखी थी की इस वर्ष बरसात भारत में थोडी होगी जो बड़े दुःख के साथ कहना पड़ रहा है की सच सावित हुई है /उक्त भविष्य वाणी में कुल दस भविष्य वाणी लिखी गई थी जिनमे कई सच हुई और कुछ अभी बांकी है / ये भविष्य वानिया सन २००९ में ग्रहों की दृष्टि में रख कर लिखी गयी थी जो आप ''पुराने पोस्ट '' शीर्षक में देख सकते है /
नए सन्दर्भ में , भारत का ६३ वे स्वतंत्रता दिवस का नविन प्रवेश १४-०८-२००९ को २१-२८ मिनिट पर हो रहा है जब मीन लगन चल रहा होगा / ११-१२-०९ तक सूर्य दशा में शुक्र का अन्तर रहे गा / शुक्र में शनि का प्रत्यंतर ३०-०९-०९ तक रहे गा जो इस घातक बिमारी के लिए सुनहरा समय रहे गा /यूं तो बीमारी दिसम्बर तक चले गी परन्तु उसके बाद ही मंद पड़ जाए गी /
लग्न का भागेश शुक्र अष्टम के भाग में पड़ा है जो दर्शाता है की आगामी एक वर्ष भारत की जनता के लिए बड़े कष्टों को लेकर आए गा जनता के अन्न धन और स्वस्थ की बड़ी हानि होगी यह तै है लिहाजा सावधान रहे /
स्वतंत्रता दिवस की कुंडली में चीन आदि पडोसी देशो की तरफ़ से चिंता परेशानी के योग भी दिख पड़ते है अतः राज नेताओ को चाहिए वे पडोसियों पर आँखे बंद करके विश्वास ना करे और सोच विचार कर निर्णय ले तो बेहतर होगा /
अंत में , माता से प्राथना है -'' सर्वे भवन्तु सुखीन सर्वे सन्तु निरामया ''
जय हिंद !