Sunday, October 17, 2010

नितीश कुमार की बल्ले-बल्ले और लालू यादव की थल्ले-थल्ले !

शाशिभूषणतामड़े उवाच;

 दोस्तों ,
दशहरे की हार्दिक मंगल कामनाये कबूल करे /
आज न्याय की अन्याय  पर विजय का दिवस है , दो दिन पहले मैंने आज को लेकर आप से वादा किया था कि आज मै बिहार में होने जा रहे चुनाव पर ज्योतिष की दृष्टि से खुलासा विचार रखूंगा जो कि पूरा कर रहा हूँ /
बिहार के भावी चुनाव जो बिधान सभा के लिए होने जा रहे है कई मायनों में आश्चर्य भरे तो कुछ मायनों में उम्मीद से परे नहीं दीखते / ग्रहों और नक्षत्रो की भाषा कई जगहों पर सोंच से मिलती जुलती और कई जगह सोच से परे मालूम देती है /  
सबसे पहले मै लालू प्रसाद यादव की चर्चा करूंगा क्योकि ग्रहों की गति अनुसार भावी चुनाव से यदि किसी का जोरदार अहित होने जा रहा है तो वो लालू ही है / लालू जी के अनेक ग्रह उनके अहित को उतारू है , उनके राजनितिक जीवन का बनवास सुनिश्चित हो चुका है / ग्रह स्थिति अनुसार उनकी छवि को ये चुनाव भारी चोट पंहुचाये गा और सत्ता पर काबिज होना दूर की कौड़ी साबित होगा /
उनकी पत्नी श्रीमती राबड़ी देवी इस दफा दो स्थानों से चुनाव लड़ रही है और जिस दिवस पर उन्होंने नोमिनेशन दिया है उस ग्रह गणना अनुसार वो दो में से एक स्थान से चुनाव हार जायेंगी /
लालू प्रसाद की चर्चा तब तक अधूरी ही है जब तक कि जन शक्ति पार्टी के राम विलास पासवान की चर्चा ना हो / 
ग्रहों की कोप दृष्टि से राम विलास भी अछूते नहीं रह पाए ,ये नाहक ही बलि का बकरा बनाने के ज्यादा इक्षुक जान पड़ते है बरना लालू जी से हाँथ नहीं मिलाया होता , दोनों नेताओं की ग्रह स्थिति कठिन मालूम पड़ती है / चुनाव में राम विलास जी अपने कद अनुसार सफलता प्राप्त नहीं कर पावेंगे और चुनाव उपरान्त दोनों नेताओं का गठबंधन टूट जाए गा /
दूसरी तरफ कांग्रेस है जो ''एकला चलो'' फार्मूले पर अमल कर रही है जो उसके लिए भरी मुफीद साबित होगा / कांग्रेस की जन्म कुंडली अनुसार ग्रहयोग और महा दशा नाथ मंगल उत्तम अवस्था में शुभ सूचक है परन्तु अन्य कारणों से सत्ता पर काबिज होना मुश्किल है / फिर भी पहले से बेहतर अवस्था रहे गी ये सुनिश्चित है /
चुनांचे स्पष्ट है कि सत्ता एनडीए के हाँथ में ही रहे गी / याने अगले मुख्य मंत्री फिर से नितीश कुमार ही रहेंगे / और भाजपा के मज्जे बने रंहेंगे /
अस्तु जय भाजपा , जय नितीश !