Tuesday, December 7, 2010

सुपर मॉडल ,पोप स्टार अब मम्मी बनाना चाहती है !

शाशिभूषणतामड़े उवाच;

 दोस्तों,
प्यार और मुहब्बत की इतिहासिक इमारत 'ताज महल '' में एक रोमांच भरी शाम गुजारने के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति निकोलस शर्कोजी और अपनी धर्म पत्नी कार्ला ब्रूनी के साथ आगरा से २६ किलोमीटर दूर पश्चिम में वंहा जा पहुंचे जन्हा पंहुंच कर बड़े बड़े बादशाह भी आम हो जाते है / फतहपुर सिकरी में सूफी संत सलीम चिस्ती की वो दरगाह है जन्हा मुगलिया शहंशाह अकबर सैंकड़ो वर्ष पहले बेऔलाद होने का दुःख सलाता हुआ पंहुचा था और हंसता हुआ वापिस आया था क्यों कि संत सलीम चिस्ती ने उसे औलाद से नवाजा था जो बाद में शाह्ज्न्हा के नाम से गद्दी नशीं हुआ था /
ऐसा नहीं कि फ्रांस के राष्ट्रापति को औलाद नहीं बल्कि एक नहीं तीन तीन है किन्तु वो सभी पिछली दो पत्नियों से है वैसे ही कार्ला ब्रूनी को भी पिछले पति से एक संतान है परन्तु दोनों पति-पत्नी अपने आज के दाम्पत्य जीवन से औलाद चाहते है और उसी चाहत को पूरा करने की कोशिश में वो सलीम चिस्ती के दरवार में जा पंहुचे /
ज्योतिष के नजरिये से देखे तो राष्ट्रपति शर्कोजी का जन्म २८-०२-१९५५ को फ्रांस की राजधानी पेरिस में कन्या लग्न में हुआ है , जब कि कार्ला ब्रूनी जो तक़रीबन १२ वर्ष श्री शर्कोजी से छोटी है इटली में टोरीनो नामक स्थान पर २३-१२-१९६७ को पैदा हुई है / श्रीमती ब्रूनी मिथुन लग्न की जातक है / यदि एक व्यापक नजर दोनों कि जन्म कुंडलियो पर डाली जाये तो ये स्पस्ट होता है कि दोनों गंभीर रूप से मंगल के कोप में ग्रस्त है और यही कारण है कि दोनों तलाक शुदा है / और अतीत में अनेक दुखो से दोचार हुए है /
वर्तमान में श्री शर्कोजी चन्द्र महा दशा और गुरू ग्रह के अंतरे में गुजर रहे है जो सन २०१२ के प्रारम्भ तक कायम रहे गा / इनका चन्द्रमा अत्यंत बलशाली है और गुरू भी कम नहीं , संछेप में यूं कहे श्री शर्कोजी फ्रांस और शायद सारे विश्व में पहले ऐसे राष्ट्रपति होंगे जिनको पद पर रहते हुए पुत्र रत्न की प्राप्ति होने जा रही है / श्री शर्कोजी को आईंदा २०१२ तक निश्चय ही पुत्र रत्न प्राप्त होगा ये उनकी जन्म कुंडली से खूब स्पष्ट है / 
अन्य नजरिये से ग्रहों की गति शुभ नहीं है / श्री शर्कोजी अपना वर्तमान कार्यकाल तो जरूर पूरा कर पाएंगे परन्तु उसके बाद वो फ्रांस के राष्ट्रापति वो नहीं रहेंगे /
थैंक्स.